IPL 2024: मुंबई इंडियंस का माहौल खराब! रोहित शर्मा ने नहीं खेला अभ्‍यास मैच

नई दिल्ली। मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के शिविर में कुछ सही नहीं चल रहा है। बुधवार को अभ्यास सत्र के दौरान टीम ने बिना मीडिया और दर्शकों के ही अभ्यास किया। मुंबई इंडियंस को 24 मार्च को अहमदाबाद में गुजरात टाइटंस में भिड़ना है। अहमदाबाद जाने से पूर्व मुंबई में बुधवार को टीम ने अभ्यास मैच खेला।

IPL 2024: दक्षिण अफ्रीका के हनुमान भक्‍त क्रिकेटर की ख्‍वाहिश हुई पूरी

मैच से पूर्व टीम को मुख्य कोच मार्क बाउचर (Mumbai Indians) ने संबोधित किया, जहां उन्होंने अभ्यास मैच के उद्देश्य और सत्र के लक्ष्य पर चर्चा की। हालांकि, सोमवार को टीम के शिविर में जुड़े पूर्व कप्तान रोहित शर्मा ने अभ्यास मैच में भाग नहीं लिया। रोहित शर्मा विगत तीन दिनों से नेट अभ्यास, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और अपनी चहलकदमी पर काम कर रहे हैं, इसलिए सत्र के शुरू होने से पूर्व अभ्यास के लिए वह मुंबई में ही रहेंगे।

हार्दिक-बाउचर ने चुप्‍पी साधी

इससे पहले बुधवार को अभ्यास सत्र के दौरान रोहित शर्मा टीम के नए कप्तान हार्दिक पांड्या से गले मिले, लेकिन दोनों के बीच गर्मजोशी देखने को नहीं मिली। इससे साफ तौर पर समझा जा सकता है कि मुंबई इंडियंस के शिविर में कुछ ठीक नहीं है। मुंबई इंडियंस की ओर से एक्स पर साझा किए गए वीडियो में दिखा कि रोहित को देखकर हार्दिक उनके पास जाते हैं।

रोहित उनसे हाथ मिलाना चाहते हैं, लेकिन हार्दिक उन्हें गले लगा लेते हैं। सोमवार को हुई प्रेस कान्फ्रेंस में भी टीम को पांच बार चैंपियन बनाने वाले रोहित शर्मा को हटाकर हार्दिक पांड्या को कप्तान नियुक्त करने के प्रश्न पर कप्तान हार्दिक और कोच बाउचर चुप्पी साध गए थे।

युवाओं के साथ खेलकर मजा आया: रोहित

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने इंग्लैंड के विरुद्ध हाल में समाप्त हुई टेस्ट सीरीज के दौरान पदार्पण करने वाले खिलाडि़यों की प्रशंसा करते हुए बुधवार को कहा कि उन्होंने इन युवा क्रिकेटरों के साथ खेलने का भरपूर आनंद लिया। विराट कोहली सहित कुछ शीर्ष खिलाड़‍ियों की अनुपस्थिति में पांच युवा खिलाड़‍ियों रजत पाटीदार, ध्रुव जुरैल, सरफराज खान, आकाश दीप और देवदत्त पडिक्कल ने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया।

रोहित ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर कहा, ‘व्यक्तिगत रूप से मुझे इनके साथ काम करके बहुत मजा आया। जितने भी युवा लड़के थे, सब काफी चुलबुले थे।’ उन्होंने कहा, ‘इनमें से अधिकतर को मैं अच्छी तरह से जानता था तथा मुझे उनके मजबूत पक्षों के बारे में पता था। मैं जानता था कि वह किस तरह से खेलना चाहते हैं। मेरा काम केवल उन्हें सहज बनाए रखना था। जिस तरह से उन्होंने मेरी और राहुल भाई (मुख्य कोच राहुल द्रविड़) की उम्मीदों को पूरा किया, वह शानदार था।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.